एक आदमी के संघर्ष और सपनों की कहानी है पटना-12 : अमित पॉल

Featured Post slide पटना बिहार मनोरंजन स्पेशल न्यूज़

पटना 14 जून:फिल्मकार और लेखक अमित पॉल का कहना है कि उनकी आने वाली फिल्म पटना-12 एक आम आदमी के संघर्ष और उसके सपनों की कहानी बयां करेगी।

अमित पॉल इन दिनों राजधानी पटना में अपनी आने वाली फिल्म पटना 12 की शूटिंग में व्यस्त हैं।मनीष राज के निर्देशन में बन रही इस फिल्म में
निहारिका कृष्णा अखौरी, दीपक जैन, सौम्या, मोहाटेलाल कनौजिया और अजित सिंह ने मुख्य भूमिका निभायी है। फिल्म की शूटिंग दीघा में की जा रही है। आने वाले दिनों में इसकी शूटिंग पटना में महत्वपूर्ण स्थल गोलघर, हनुमान मंदिर में भी की जायेगी।

फिल्म की चर्चा करते हुये अमित पॉल ने बताया कि पटना 12 मूल रूप से अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड समारोह के लिये बनायी गयी फिल्म है। फिल्म के जरिये पटना की खूबसूरती को दुनियां के सामने दिखाने की कोशिश की गयी है। हमारा मकसद अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा का ध्यान पटना की ओर आकर्षित करना है, जिससे आने वाले समय में फिल्मकार पटना में फिल्म की शूटिंग कर सकें।इस फिल्म के जरिये हमने एक आम आदमी के संघर्ष और उसके सपनों को बताने की कोशिश की है। फिल्म एक ऐसे परिवार की कहानी है जिसका
मुखिया भगवत दास शराब के नशे में चूर है और परिवार पर ध्यान नही देता। ऐसे में परिवार की जिम्मेवारी उसकी लड़की के उपर आ जाती है। फिल्म में सुनीता नामक इस युवती के किरदार को निहारिका कृष्णा अखौरी ने निभाया है। हमने इस फिल्म में सुनीता के किरदार के लिये 40 से अधिक लड़कियों का ऑडिशन लिया और अंत में निहारिका का चयन किया।अमित पॉल ने बताया कि पटना-12 की कहानी में दिखाया जायेगा कि किस तरह सुनीता न सिर्फ अपनी जिम्मेवारी को बखूबी निभाती है और अपनी विकलांग बहन अनिता के सपनों को भी साकार करने की कोशिश करती है और अंत में उसे
कामयाबी भी मिलती है। उन्होने बताया कि उनकी आने वाली दो फिल्में दे घूमा के और द कोच शामिल है।ये फिल्म खेल पर आधारित तथा फुटबॉलर के जीवन पर आधारित होगी।फिल्म की शूटिंग पटना और आसपास के इलाकों में की जायेगी। निहारिका कृष्णा अखौरी ने बताया कि फिल्म की कहानी उनके दिल को छू गयी इसलिये उन्होंने इस फिल्म में काम करने के लिये हामी भरी। उन्होंने बताया कि फिल्म में मैने एक गरीब लड़की का किरदार निभाया है जो किसी तरह मजदूरी
और अन्य काम कर अपने परिवार का भरण-पोषण करती है। मेरे इस संघर्ष में कबाड़ी की दुकान चलाने वाले खान चाचा सहयोग करते हैं। फिल्म की शूटिंग
रियल लोकेशन पर की जा रही है। फिल्म में अपने किरदार को निभाने के लिये हमे काफी कड़ी मेहनत की है। उम्मीद है कि फिल्म दर्शकों और समीक्षकों को बेहद पसंद आयेगी।

अन्य ख़बरें

जिला तैलिक साहू संगठन बेतिया ने किया संगठन विस्तार, नगर कमिटी का हुआ गठन।
शुक्राणुओं की संख्या में हो रही है गिरावट, निःसंतानता के 30 से 40 प्रतिशत मामलों में पुरूष जिम्मेदार
इनर व्हील क्लब पटना ने 2019-20 का छठा क्लब खोला
चुनाव तारीखों का हुआ ऐलान... आदर्श आचार संहिता लागू
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद मैं भारत की जीत, अगले 3 वर्षों तक के लिए स्थाई सदस्य
सुरेंद्र मिश्रा की भोजपुरी फिल्म ‘लाखों में एक हमार भौजी’ का मुहूर्त
चैंबर के वार्षिक पदस्थापन कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने रखा चंपारण के औद्योगीकरण का रोड मैप
सरकार के नए अनलॉक रोस्टर से व्यवसायी नाखुश। सरकार पर लगाया, व्यवसायियों से पक्षपात का आरोप
प्रतिदिन दुकानें खोलने को लेकर सरकार से आरपार के मूड में व्यवसायी। काली पट्टी बांधकर जताया विरोध
गुरुवार को होगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, भारत में इन जगहों पर दिखेगा
विश्व हेपेटाइटिस दिवस पर कुमार हेल्थ केयर छतौनी में नि: शुल्क जांच व टीकाकरण शिविर
मिशन साहसी के तहत होगा प्रशिक्षण, छात्राओं को सिखाए जाएंगे आत्मरक्षा के तरीके,
खट्टी मीठी यादों के साथ मोतिहारी सेंट्रल यूनिवर्सिटी के VC अरविंद अग्रवाल की छुट्टी, राष्ट्रपति ने ...
मेरे गुरु मेरे मार्गदर्शक: रजत पाठक की कलम से
बिहार की 11 बेटियों को मिला कंचन रत्न सम्मान
फिलहाल दो ट्रेड़ो के 17 पदों के लिए 36 लोगों का हुआ इंटरव्यू
"सा रे गा मा" फेम गायिका आंशिका सिंह ने दी शानदार प्रस्तुति
धनौती नदी पर वाटर रिजर्वायर बनाने के लिए जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण
औरंगाबाद, एनटीपीसी परियोजना से बिहार को मिलेगी 1683 मेगावाट बिजली
नाले में डूबने से एक छात्रा की मौत...!!! जिम्मेदार कौन.....???

Leave a Reply