इश्क का पत्थर

Uncategorized

इश्क का पत्थर,
जो फेंकती हों तुम।
कसम से बार बार,
उठाने को जी चाहता है।।
तुम्हारी अदाएं इतनी मदहोश है,
कि बार बार तुम्हारी गली में,
आने को जी चाहता है।।

“नकुल कुमार साह”

Advertisements
contact for advertisment and more
Nakul Kumar
8083686563

अन्य ख़बरें

पूंजीवादी व्यवस्था
देव फिल्म प्रोडक्शन के सेट पर लगाया गया चम्पा का पौधा
मेला में ठेला और पान बेचता एक मासूम बचपन
पैसा ही सबकुछ........
भारत की बिटिया हिमा दास ने जीता स्वर्ण.....
तेरे बिना......... बदलाव अधुरा
...... मज़हबीकरण
मुखिया ने किया छठ घाट का निरीक्षण, क्षेत्र की जनता को महापर्व मिलजुलकर मनाने का दिया संदेश
ज्ञानी है महादानी
प्याज
बेतिया मैनाटांड़ रोड में कुरान घर एकेडमी के पास सड़क में पड़ी दरार
ठगी का शिकार होने से बची सुनैना देवी
समाज के नवनिर्माण में पत्रकारों की भूमिका अहम:मधुरेश प्रियदर्शी
शपथ ग्रहण के दौरान दिल्ली के कौन-कौन से रास्ते रहेंगे बंद...पढ़िए
बचपन पढ़ाओं आन्दोलन 07.04.2017
क्या बिहार के विशेष राज्य दर्जा पर बात करेंगे Amit Shah ...???
नकुल........ ब्रेकअप कर ले यार।।
रात की गहराई में.........भाग-02
मोतीझील मोतिहारी से Nakul Kumar लाइव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *