आवारा पशुओं का गांधी चौक पर अनवरत रूप से रात्रि का धरना प्रदर्शन जारी…….

गाँव-किसान बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़

NTC NEWS MEDIA / Motihari

Nakul Kumar / +91 8083686563

                    यदि आप कभी रात में भूल से भी अकेले निकलते हैं तो सावधान होकर ही निकालिएगा…!  अपनी सुरक्षा पुख्ता करके ही निकालिएगा। बेशक पुलिस का शहर में चप्पे-चप्पे पर पहरा है किंतु पुलिस हर जगह आपके साथ बंदूक लेकर खड़ी तो रहेगी नहीं…………???   कुछ देर के लिए, चलो मान लिया………..पुलिस आपको चोर उचक्कों से ही बचा सकती है किंतु रात में आवारा पशुओं, हिंसक कुत्तों से आपको या तो अपने दम पर आप स्वयं बचेंगे अथवा आपको भगवान ही बचाएऐगे…??????

            जी हां तो आप सही पढ़ रहे हैं  अपने मोतिहारी में आवारा पशुओं का अनवरत रूप से भीड़ भाड़ वाले इलाके में घूमना आम बात हो गया है। कूड़े के ढेर पर सामूहिक रुप से बैठे रहना अथवा भीड़ में घुसकर किसी पर हमला कर देना, अथवा बीच सड़क पर ही सांडों का मल्लयुद्ध चालू कर देना यह आम हो चला है । सांडों द्वारा राहगीरों पर हमला कर देना  जस्सी घटनाएं पहले हम सुन चुके हैं । यक्ष प्रश्न यह है कि जिस नगर परिषद को हम तमाम सुख सुविधाओं के लिए टैक्स देते हैं, हमारा अपना नगर परिषद इस ओर ध्यान कब देगा…..?

ज्ञातव्य है कि यह आवारा पशु शहर में आए दिन किसी न किसी को नुकसान पहुंचाते रहते हैं नाम ना छापने की शर्त पर एक पशु मालिक ने कहा कि जानवर घुमंतु हो गईल बा अब खुटा पर ना रहेला।

उपरोक्त कथन के आधार पर नगर परिषद को कठोर कार्रवाई करते हुए  इन जानवरों को पकड़कर या तो जंगलों में छोड़ दिया जाना चाहिए अथवा इन्हें धाट में  हमेशा के लिए कस्टडी ले ली जानी चाहिए ताकि फिर से कोई पशु मालिक अपने पशुओं को शहर में आवारा की तरह ना छोड़ने पाएं।

आवारा कुत्तों से निजात कब…?

दूसरा सबसे बड़ा तथ्य है कि शहर में आवारा अनवरत रूप से बढ़ती कुत्तों की आबादी जहां कुत्तों का सामूहिक रुप से राहगीरों का हमला कर देने की घटना आए दिन सामने आती रहती है । यह सही है कि कुत्ता हमारा सबसे पहला पालतू जानवर है । सामान्य तौर पर इसे अपनी सुरक्षा के लिए ही पाला जाता है। कुत्ता ही वह जानवर है जो किसी आदमी अथवा चोर के घर में घुसने पर सबसे पहले शोर मचाकर मालिक को सचेत कर देता है।

कुत्ता या तो अपने मालिक को पहचानता है अथवा उसके आसपास प्रतिदिन आने वाले लोगों को किंतु यही कुत्ता जब आपको नहीं पहचानता हो और आप उसके इलाके से गुजरते हो तो यह आपका, हमारा, सबका अनुभव है कि कुत्ता किस तरह से बाइक अथवा कार की ओर झपट्टा मारके भौकता  है, यहां तक की काट भी लेता है।

Advertisements

कुत्तों के काटने से होने वाली बीमारी:-

 

अब देखने वाली बात यह है कि आने वाले दिनों में हमारे नगर परिषद द्वारा इस पर किस तरह की कदम उठाए जाते हैं जिससे हमारे शहर मोतिहारी को आवारा पशुओं के चुंगल से बचाया जा सके एवं राहगीरों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

अन्य ख़बरें

मधुबन JCC क्रिकेट टूर्नामेंट में जोगौलिया की टीम हुई विजयी
प्रत्येक जिले में कोरोना के जांच की अविलंब व्यवस्था हो अन्यथा स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे त्यागपत्र ...
जल, जीवन व हरियाली की रेत कलाकृति देख, मधुरेन्द्र के हुए मुरीद मुख्यमंत्री नीतिश कुमार
सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश ही भारत बंद : वामदल
मोतिहारी हनुमान मंदिर में बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री पैकिंग शुरू
सामाजिक विज्ञान में शोध विषय पर राष्ट्रीय ई-कार्यशाला का हुआ आयोजन
"वेलेंटाइन डे " स्पेशल...। वैलेंटाइन डे की पार्टी पूरे शबाब पर थी और फिर...!!!
भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू की गई लड़ाई को तेज करने की जरूरत : त्रिभुवन
4 फेज में मोती झील से इस दिन से हटाया जाएगा अतिक्रमण
मोतिहारी में डॉ आर के गुप्ता के नेतृत्व में सैकड़ों लोग वर्चुअल रैली में हुए शामिल
रमगढ़वा में छठ के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का हुआ आयोजन
मत प्रतिशत बढ़ाने के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बूथ लेवल तक चला रही है मतदाता जागरूकता अभियान
चौपाल लगाकर विधायक ने सुनी जन समस्याएं, समाधान का दिया आश्वासन
गोपालगंज जदयू महिला अध्यक्षा रीता देवी हुई सम्मानित, महिला सशक्तिकरण सहित सामाजिक कार्यों में भी बढ...
हमारी सरकार पशु धन के विकास और संवर्धन के लिए कृतसंकल्पित: कृषि मंत्री
नए कृषि कानून से कालाबाजारी बढ़ेगा : डॉ दीपक
खुले में शौच से मुक्ति के लिए नरकटियागंज प्रखंड के केसरिया पंचायत में हुआ कार्यशाला का आयोजन
CPIM ने जुलूस निकालकर जताया विरोध
एक ही फ़िल्म में मवाली लड़की और प्रिंसेस के किरदार में नज़र आएंगी आम्रपाली दुबे
24 जनवरी को मानव कतार लगायेगी रालोसपा

Leave a Reply