आतंकवाद एवं बातचीत दोनों साथ साथ नहीं हो सकते पाकिस्तान मसूद अजहर को भारत को सौंपें।

अंतर्राष्ट्रीय राजनीति राष्ट्रीय

Delhi।मसूद अजहर पर चीन के अड़ियल रवैया के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि आतंकवाद एवं बातचीत दोनों साथ साथ नहीं हो सकती है पाकिस्तान भारत से बातचीत चाहता है तो वह आतंकवादी मसूद अजहर को भारत को सौंपें।

मालूम हो कि अमेरिका ब्रिटेन एवं प्रांत द्वारा मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी ग्लोबल टेरेरिस्ट घोषित करने के लिए एक रेजोल्यूशन लाया गया था जिस पर चाइना ने अपने वीटो पावर का प्रयोग करते हुए अड़ंगा लगा दिया है।

मालूम हो कि ग्लोबल टेरेरिस्ट घोषित होते हैं मसूद अजहर के राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय संपत्तियों के जप्त करने उसके अंतरराष्ट्रीय दौरे यात्रा आदि सारी गतिविधियों पर प्रतिबंध लग जाता । लेकिन चीन ने अपने दोस्त पाकिस्तान के 7 यारी निभाने के लिए भारत के खिलाफ भारतीय जनमानस को ठेस पहुंचाते हुए अपने वीटो पावर का प्रयोग करके ऐसा नहीं होने दिया।

इतना ही नहीं पाकिस्तान में चाइना के बहुत सारे प्रोजेक्ट चल रहे हैं जिसमें ग्वादर बंदरगाह एवं कई सड़क रेल मार्ग प्रमुख है इतना ही नहीं चीन पाकिस्तान को अपने हथियार एक्सपोर्ट करता है साथ ही साथ चीन और पाकिस्तान मिलकर कई पुराने लड़ाकू विमानों को अपग्रेड भी कर रहे हैं और इसके साथ ही साथ नए प्रोजेक्ट पर साथ साथ काम कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर चाइना का सबसे बड़ा स्वास्थ्य है कि वह पाकिस्तान के रास्ते आसानी से हिंद महासागर एवं अरब सागर में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है।

अन्य ख़बरें

आज नवीन बाबू करा रहे हैं " गांव की सैर"
राष्ट्र के विकास के लिए कृषि कार्यों से जुड़ी महिलाओं के सशक्तिकरण पर ध्यान देना बहुत जरूरी है: कृषि ...
प्रत्येक जिले में कोरोना के जांच की अविलंब व्यवस्था हो अन्यथा स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे त्यागपत्र ...
प्रभा फाउंडेशन के सचिव ने देशवासियों को दी चैत्र छठ की बधाई, कहा, करोना वायरस की जंग हम जरूर जीतेंगे
शिक्षक को ज्ञानवान बुद्धिमान एवं चरित्रवान होना चाहिए: पप्पू सर
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा का जिला सम्मेलन संपन्न
गायघाट हरसिद्धि मुख्य मार्ग के लिए जल सत्याग्रह
बिहार में शिक्षा सुधार के लिए लखौरा में रालोसपा ने किया नुकड़ सभा
मिशन मोतिहारी 2020 के मध्य नजर भाजपा का कार्यशाला, 60 हजार नए सदस्य बनाने का लक्ष्य
वैकल्पिक राजनीति के दृष्टिकोण से, कन्हैया का चंपारण आना ऐतिहासिक : पुष्पेंद्र द्विवेदी
हनुमान जी दलित थे यह उतना प्रासंगिक नहीं है जितना कि उनका समाज के प्रति निस्वार्थ सेवक होना।
सपने ले लो........सपने। यहां सपनों के भी खरीददार मिल जाएंगे।
पटना में कंचन कुमारी गुप्ता के नेतृत्व में, मां कर्माबाई जयंती के माध्यम से तेली समाज का शक्ति प्रदर...
नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर
तुरकौलिया: मुखिया बेबी आलम के नेतृत्व में महिलाओं ने निकाला कैंडल मार्च, पाकिस्तान मुर्दाबाद के लगे...
कुशवाहा छात्र संगठन ने निकाला आक्रोश मार्च, पीड़ित परिवार को मिले पचास लाख का मुआवजा
प्रख्यात रेत कलाकार मधुरेन्द्र ने कैनवास पर आकृति खीच शीला दीक्षित को दी श्रंद्धाजलि
बुलबुला अकारण ही उड़ने लगा था...
अखिलेश सिंह ने मदर डेयरी पर बोलकर अपना पोल स्वयं खोल दिया: सचिंद्र सिंह कल्याणपुर विधायक
मोतिहारी में प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिवस पर नमामि गंगे सहायतार्थ नीलाम की गई उपहारों की लगी प्रदर्...

Leave a Reply