अपनी दमदार प्रस्तुति के बल पर संगीत के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी है प्रिया राज

Featured Post slide कटिहार किशनगंज बिहार मधेपुरा मनोरंजन साहित्य

“जब टूटने लगे हौंसले तो बस ये याद रखना,
बिना मेहनत के हासिल तख्तो ताज नहीं होते।
ढूंढ़ लेना अंधेरों में मंजिल अपनी,
जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।”

पटना। अपनी हिम्मत और लगन के बदौलत प्रिया राज आज संगीत की दुनिया में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुई हैं लेकिन इन कामयाबियों को पाने के लिये उन्हें अथक परिश्रम का सामना भी करना पड़ा है।

बिहार में मधेपुरा जिले में कुमारखंड थाना क्षेत्र के परसाही गांव में जन्मी प्रिया राज के पिता अरूण कुमार सिंह और मां तथा पूर्व जिला पार्षद वार्ड रूबी कुमारी की लाडली बड़ी बेटी प्रिया राज को अपनी राह खुद चुनने की आजादी दे रखी थी।

प्रिया राज को संगीत का माहौल घर में मिला। उनके दादा महेन्द्र कुमार सिंह लोकगायक थे। इसी वजह से बचपन के दिनों से ही प्रिया का रूझाण संगीत की ओर थी और वह इस क्षेत्र में अपनी पहचान बनाना चाहती थी। यही कारण है कि उनके पिता ने महज चार वर्ष के उम्र में ही उन्हें संगीत की शिक्षा दिलाने लगे थे।

स्वर कोकिला लता मंगेश्कर, मशहूर गायिका अलका याज्ञनिक और कल्पना पटौरी को अपना आदर्श मानने वाली प्रिया राज स्कूल में होने वाले कार्यक्रम में शिरकत किया करती उनके परफॉर्मेंस को देखकर स्कूल दिनों से ही उन्हें प्रशंसा मिलने लगा था।

प्रिया राज ने नवोदय विद्यालय से मैट्रिक की पढ़ाई पूरी की। विद्यालय की ओर से प्रिया राज को देश भर में होने वाले कई सांस्कृतिक कार्यक्रम में पार्श्वगायन का अवसर मिला और प्रिया राज ने अपनी विलक्षण प्रतिभा से अपने विद्यालय को सम्मान भी दिलाया।

Advertisements

वर्ष 2010 में प्रिया राज ने महुआ पर प्रसारित संगीत रियालिटी शो सुर संग्राम में शिरकत की हालांकि वह शो की विजेता नही बन सकी लेकिन जज के तौर पर आये रूप कुमार राठौर, मनोज तिवारी, रवि किशन, शारदा सिन्हा, मालिनी अवस्थी, कल्पना पटौरी ने उनके शानदार प्रदर्शन की भरपुर सराहना की।

वर्ष 2013 में प्रिया राज ने दूरदर्शन पर प्रसारित संगीत रियलिटी शो “भारत की शान” में हिस्सा लिया और टॉप 10 में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही। प्रिया राज ने कई अलबमों और फिल्मों के लिये पार्श्वगायन किया है।प्रिया राज को उनके करियर में कोसी महोत्सव सोनपुर महोत्सव , मनहार महोत्सव, विद्यापति महोत्सव, दशहर महोत्सव, अंग महोस्तव और मंजूषा महोत्सव समेत कई महोत्सव में सम्मानित किया जा चुका है। प्रिया राज आज संगीत के क्षेत्र में अपनी पहचान बना चुकी है। वह अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और प्रशंसकों को देती हैं जिन्होंने उन्हें हमेशा सपोर्ट किया।

NTC NEWS MEDIA प्रिया राज के उज्जवल भविष्य की कामना करता है।

अन्य ख़बरें

Lock down ( Unlock ) सरकारी एवं गैर सरकारी कार्यालय, दुकानों के खुलने का बदला समय
शहीद सैनिक परिवारों के स्वावलंबन के लिए ब्रावो फार्मा ने उठाया यह जरूरी कदम
बिहार राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष ने जिलाधिकारी को किया सम्मानित
भुअनछपरा में शराब कारोबारी शराब के साथ हिरासत में, इंस्पेक्टर संजय कुमार ने की पुष्टि
कला संस्कृति मंत्री ने बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ चूड़ा एवं गुड़ का किया पैकिंग
अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला वार्ड सदस्यों द्वारा रैली का आयोजन
बिहार दिवस के मौके पर मुंशी सिंह महाविद्यालय में बिहार के भूत, वर्तमान एवं भविष्य पर परिचर्चा
कुशल युवा कार्यक्रम के तहत छात्रों के बीच बंटा प्रमाणपत्र
डॉ. मदन प्रसाद साह ने 18 मधुबन विधानसभा क्षेत्र से किया नामांकन, उमड़ा जनसैलाब
नयी दिशा परिवार ने 51 महिलाओं के लिये छठ पूजा आयोजन
CPIM ने जुलूस निकालकर जताया विरोध
ई- रिक्शा लूट कांड की घटना को लेकर जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में मोतिहारी ऑटो एवं ई रिक्शा चालक संघ ने क...
बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने किया हंगामा
मेगा ऑडिशन के साथ हुआ डिज़ाइनर नेक्स्ट इंडिया शो का आगाज़
कला संस्कृति मंत्री ने किया क्वॉरेंटाइन सेंटर का निरीक्षण पदाधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश
रोटरी क्लब मोतिहारी द्वारा वरिष्ठ नागरिकों की नि:शुल्क चिकित्सा शिविर, मोतिहारी के प्रसिद्ध डॉक्टरों...
बलुआ ओवरब्रिज पर पुलिस और बाइक सवार के बीच हुई तीखी नोकझोंक
रंग लाता दिख रहा है 'सुशील कुमार' का "गौरैया संरक्षण अभियान"
केंद्रीय कृषि मंत्री के संसदीय क्षेत्र में अपनी समस्याओं को लेकर किसानों का "किसान मार्च"। फूलगोभी स...
मुख्य सचिव बिहार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रमंडल वार कोविड-19 स्थिति की समीक्षा

Leave a Reply