अखिलेश सिंह ने मदर डेयरी पर बोलकर अपना पोल स्वयं खोल दिया: सचिंद्र सिंह कल्याणपुर विधायक

Featured Post slide बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति राष्ट्रीय स्पेशल न्यूज़
  • 10
    Shares

मोतिहारी । अखिलेश सिंह ने अपना आधा पोल तो अपने बेटे को चुनाव में खड़ा कर के खोल दिया है।बाकी मदर डेयरी पर बोल कर अपना पोल खोलवाने का पुनीत कार्य उन्होंने ने स्वयं किया है।उक्त बातें कल्याणपुर विधायक सचिन्द्र प्रसाद सिंह ने जिला भाजपा कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहीं।विधायक श्री सिंह ने कहा कि मदर डेयरी प्लांट में सारे अधिकारी सरकारी हैं,एक भी प्राइवेट व्यक्ति नहीं है।बापू धाम दुग्ध उत्पादक कंपनी में एक मदर डेयरी सर्विसेज के अधिकारी के अतिरिक्त एक व्यक्ति भी राधामोहन जी की जाति, पार्टी,सगा- संबंधी या परिवार का नहीं है।अगर अखिलेश जी के पास कोई प्रमाण है तो उन्हें बताना चाहिए।

बथना,मठबनवारी में स्थित मदर डेयरी अपने निर्धारित समय सीमा 18 महीने के बजाय मात्र 09 महीने में ही बनकर तैयार हो गया और उसके उत्पाद का हम सब उपयोग भी कर रहे हैं। मदर डेयरी के माध्यम से पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण और गोपालगंज के एक हजार गावों के पचास हजार दुग्ध उत्पादक सदस्य लाभान्वित हो रहे हैं। जो किसानों और पशु पालकों के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में एक ऐतिहासिक कदम है।

वहीं दूसरी तरफ अखिलेश सिंह ने अपने एक मित्र दल के राज्य सभा सदस्य के माध्यम से सदन में प्रश्न के माध्यम से मदर डेयरी के निर्माण को कठघरे में खड़ा किया जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

बापूधाम दुग्ध उत्पादक कंपनी का दुग्ध संग्रहण केंद्र अधिक दुग्ध उत्पादन करने वाले जाति विशेष के यहां खुलने का विरोध अखिलेश जी कर रहे थे। शायद वह ये भूल गए थे कि उसी जाति विशेष के वोट से 2004 में वह मोतिहारी से सांसद बने थे। मैं आप लोगों के माध्यम से यह कहना चाहता हूं कि जनता सब जानती है अब अखिलेश जी उन्हें गुमराह नहीं कर सकते।

अखिलेश सिंह मोतिहारी के सांसद और केंद्र में कृषि राज्य मंत्री रह चुके हैं।अपने कार्यकाल में उनके द्वारा विकास का कौन सा ऐसा उल्लेखनीय कार्य किया गया है इसका जवाब उन्हें देना चाहिए। अपने कार्यकाल में अखिलेश सिंह ने फर्जी कंपनी के नाम पर किसानों की बहुमूल्य जमीन कथित कंपनी के प्रतिनिधि शम्भू नाथ ड्रॉलिया और आर.के.बुबना का नाम रजिस्ट्री करा कर किसानों की भूमि को हथियाने का घृणित कुकर्म किया है।

श्री सिंह ने कहा कि अखिलेश सिंह द्वारा सरियतपुर में वर्ष 2008 में 105 दस्तावेजों के माध्यम से 185.76 एकड़ क्रय की गई रैयती भूमि में भूमिदाता किसानों के साथ सरकारी प्रोत्साहन नीति के अंतर्गत करीब तेतालिस लाख के सरकारी राजस्व का चूना लगाया गया है। कथित कंपनी द्वारा दिये गए पते पर सरकारी और गैर सरकारी पत्र और नोटिसों का बगैर तामील के वापस आ जाना इस संदेह को सच साबित करता है कि कंपनी फर्जी है। कल्याणपुर विधायक ने कहा कि पूरे कागजात के साथ अगले प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस फर्जीवाड़े का मैं पर्दा फाश करूंगा।

उन्होंने कहा कि सांसद अखिलेश सिंह खुद को ब्रम्हर्षि समाज का नेता और हितैषी बताते हैं लेकिन वास्तविकता कुछ और है। श्री सिंह परिवारवाद के पोषक हैं। मोतिहारी में बड़े अंतर से चुनाव हारने के बाद मुजफ्फरपुर में अपने ही समाज की स्व०रघुनाथ पांडेय की बहू प्रतिष्ठित महिला विनीता विजय का टिकट कटवा कर खुद चुनाव लड़े और चारो खाने चित हुए। उसी तरह तरारी विधानसभा से चुनाव लड़े और वहां भी हार का मुंह देखने के साथ वहां के स्थापित ब्रह्मर्षि समाज के नेता सुनील पांडेय को पराजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

अपनी पत्नी को अरवल से विधानसभा लड़ाया और जमानत जप्त करवा बैठे। ब्रम्हर्षि समाज का भला करने वाले के रूप में खुद को प्रस्तूत करने वाले अखिलेश जी धृतराष्ट्र की तरह पुत्र मोह में समाज के कई प्रतिनिधियों के राजनीतिक और सामाजिक भविष्य को अन्धकारमय बना दिया।

अवनीश कुमार सिंह, बबलू देव और गप्पू राय सरीखे अन्य लोग उदाहरण स्वरूप ब्रह्मर्षि समाज और मोतिहारी की जनता के सामने हैं। उन्हें अपने क्षेत्र की जनता और ब्रम्हर्षि समाज ने जब नकार दिया तो उन्होंने चम्पारण के मोतिहारी का रुख किया है लेकिन मोतिहारी की जनता के सामने उनका चरित्र बेनकाब हो चुका है।

संवाददाता सम्मेलन में पीपरा विधायक श्यामबाबू यादव,सदस्य बिहार विधान परिषद बबलू गुप्ता और मीडिया प्रमुख,मोतिहारी लोकसभा भाजपा गुलरेज शहजाद उपस्थित थे।

अन्य ख़बरें

COVID19 से बचाव के लिए प्रभा ग्लोबल के डायरेक्टर, रामनिवास सिंह ने मुख्यमंत्री राहत कोष में ₹51000 क...
चंद्रहिया में शुरू होगी शाम की पाठशाला, ग्रामीण महिलाओं में शिक्षा की अलक जलाने की अनोखी पहल
रालोसपा नेता माधव आनंद ने शुरू की लोकसभा चुनाव की तैयारी। बाहरी उम्मीदवार के लिए मोतिहारी लोकसभा आसा...
पकड़ीदयाल डीएसपी दिनेश पांडे ने बच्चों को पढ़ाया शिक्षा,संस्कार एवं नैतिकता का पाठ
हनुमान जी दलित थे यह उतना प्रासंगिक नहीं है जितना कि उनका समाज के प्रति निस्वार्थ सेवक होना।
लखौरा-मोतिहारी मुख्य पथ पर पुल ना बनने के लिए सरकार एवं जनप्रतिनिधि जिम्मेदार: डॉ दीपक कुमार
बिटिया से घर आंगन गुलजार....मधुबाला सिन्हा
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया रीगा गन्ना किसानों के भुगतान एवं तियर नदी प...
सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गरीबों के बीच कंबल का किया वितरण
औरंगाबाद। सेंटर फॉर कैटालाइजिंग चेंज C3 के द्वारा ब्लॉक इंटरफेस बैठक का आयोजन
कायस्थ महोत्सव में चित्रांश समाज की हस्तियों को मिला सम्मान
अरेराज में चौपाल लगाकर जिला पदाधिकारी आम जनता से हुए रूबरू
ब्रज भूषण की बहुचर्चित भोजपुरी फिल्‍म ‘काजल’ मुंबई में हुई रिलीज
भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू की गई लड़ाई को तेज करने की जरूरत : त्रिभुवन
Breaking NEWS: अभी अभी मोतिहारी के पुलिस कप्तान उपेंद्र कुमार शर्मा निकले जाम छुड़ाने तो सड़के हो गई...
वेतन एवं अन्य समस्याओं को ले सड़क पर उतरे TET-STET शिक्षक
कर्पूरी ठाकुर के कथित अनुयायी कर्पूरी जी के सपनों को शर्मिंदा कर रहे हैं : कृर्षि मंत्री
जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के काफिले पर हुआ हमला कई गाड़ियों के शीशे टूटे कन्हैया कुमार स...
माँ.......... अवर्णनीय, अद्भुत, अतुल्य।
ए बी पी एल ए की नई पूर्वी चंपारण इकाई गठित, प्रशासनिक पदों का सृजन

  • 10
    Shares

Leave a Reply